BusinessFinanceपर्सनल लोन प्रक्रिया में सही निर्णय लेने के लिए गाइड

पर्सनल लोन प्रक्रिया में सही निर्णय लेने के लिए गाइड

व्यक्तिगत ऋण एक शानदार वित्तीय साधन है जो हमें किसी भी मौद्रिक आपात स्थिति से उबरने में मदद करता है। हालांकि ऑनलाइन ऐप्स के माध्यम से पर्सनल लोन के लिए आवेदन करना जटिल नहीं है, लेकिन कुछ लोगों को यह चुनौतीपूर्ण लग सकता है। इंस्टेंट कैश लोन ऐप आराम से पैसे उधार लेने के सुविधाजनक स्रोत हैं. 

आज ऋण आवेदन के लिए व्यक्तिगत रूप से ऋणदाता के पास जाने की परेशानी नहीं होती है, क्योंकि तत्काल नकद ऋण ऐप के माध्यम से ऋण आवेदन तुरंत जमा किया जा सकता है. हम आपको इस लेख में आपकी तुरंत पर्सनल लोन लेने से जुड़ी परेशानियों को दूर करने के लिए कुछ खास उपाय बताने जा रहे हैं, जो तुरंत लोन लेने में न सिर्फ़ आपकी मदद करेंगे बल्कि जिनमें आपके पर्सनल लोन से जुड़े सवालों के जवाब भी मिलेंगे. 

 पर्सनल लोन लेने का तरीक

  •  Google Play Store से तत्काल ऋण ऐप इंस्टॉल करें
  •  अपनी ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर के साथ रजिस्टर करें
  •  ऋण राशि, ब्याज दर और अवधि को ध्यान में रखते हुए पर्सनल लोन ईएमआई कैलकुलेटर पर ईएमआई निर्धारित करें
  •  ई-केवाईसी दस्तावेजों के साथ ऋण आवेदन को सत्यापित करें
  •  प्रस्तुत दस्तावेजों के सत्यापन पर तुरंत ऋण स्वीकृति प्राप्त करें

 लोन या ऋण की रकम की प्रोसेस, लोन लेने वाले के बैंक खाते में 24 घंटे के भीतर शुरू हो जाती है. तो, घर बैठे तत्काल नकद ऋण के लिए आवेदन करना बेहद आसान है.

 तत्काल ऋण के लिए पात्रता मानदंड और दस्तावेज़ीकरण 

लोन फाइनेंस ऐप के माध्यम से 5 लाख तक का तत्काल नकद ऋण प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए पात्रता मानदंड का पालन करें :

आयु मानदंड

कर्जदार की उम्र 21 से 58 साल के बीच होनी चाहिए

न्यूनतम मासिक आय

उधारकर्ता को कम से कम न्यूनतम रु. 15,000 मासिक अर्जित करना चाहिए

आय प्रमाण

वेतनभोगी या व्यक्तिगत खाते का 6 महीने का बैंक विवरण

सिटिज़नशिप

लोन लेने वाले व्यक्ति की राष्ट्रीयता भारतीय होनी चाहिए

तत्काल ऋण के लिए अनिवार्य दस्तावेज देना

ई-केवाईसी सत्यापन के लिए आधार कार्ड और पैन कार्ड अनिवार्य दस्तावेज हैं. लोन देने वाली संस्थाओं, वित्तीय कंपनियों और NBFC के आधार पर, दस्तावेज़,शर्तें, ब्याज और प्रोसेसिंग फ़ीस अलग-अलग होते हैं. लेकिन जो चीज बेहद ज़रूरी हैं, वे होती हैं लोन लेने वाले के KYC दस्तावेज़.

इसके अलावा पैन कार्ड के विवरण को देखते हुए क्रेडिट स्कोर भी सत्यापित किया जाता है. इससे लोन लेने वाले की विश्वसनीयता और लोन चुकाने की क्षमता की गारंटी मिलती है.

Latest Post

Related Post

The Importance of FSSAI Compliance: Ensuring Food Safety

The Food Safety and Standards Authority of India (FSSAI)...

Importance of Udyam Registration for Entrepreneurs: Benefits

Udyam Registration is an online process introduced by the...

A Step-by-Step Guide to Mastering Income tax return filing

What is an Income tax return filing ? An Income...

Benefits of Offering Digital Paystubs for Employee Wellness Programs

In the realm of employee wellness programs, businesses are...

Exploring the Different Types of FSSAI Certificate and Their Requirements

The Food Safety and Standards Authority of India (FSSAI)...

Complete Method: Guidance for Obtaining an MSME Certification

The MSME certificate, also known as Udyog Aadhaar in...

The Evolution of MSME Registration Process in India: Past, Present, and Future

Introduction: Small and Medium Enterprises (SMEs) are the backbone of...

Brisbane’s Debt Collection Landscape: Common Issues and Solutions

Unpacking Debt Collection in Brisbane In Brisbane, like in many...

Outsourced Accountant Or Bookkeeper “Near Me”?

In today's digital age, businesses have access to a...